ATM Card पर फ्री में मिलता है 5 लाख तक का इंश्योरेंस, क्लेम के लिए ये नियम जानना जरूरी

0
114

ATM Card पर फ्री में मिलता है 5 लाख तक का इंश्योरेंस, क्लेम के लिए ये नियम जानना जरूरी atm card is , online apply atm card sbi, apply atm card online state bank of india, how to block the sbi atm card ,

ATM Card Insurance: ये जानकारी लोगों को नहीं होने के कारण बहुत कम लोग ही यह इंश्योरेंस क्लेम कर पाते हैं. इसका एक बड़ा कारण लोगों के बीच वित्तीय साक्षरता की कमी है. गांव घर के लोगों की बात तो छोड़िए, पढ़े-लिखे शहरी लोग भी एटीएम के साथ जुड़ी नियम-शर्तों पर ध्यान नहीं देत पाते हैं. बैंक भी अपने ग्राहकों को एटीएम के साथ मिलने वाले इंश्योरेंस की जानकारी नहीं देते हैं.

ATM Card पर फ्री में मिलता है 5 लाख तक का इंश्योरेंस, क्लेम के लिए ये नियम जानना जरूरी

आज के समय में बहुत लोग ही होंगे, जो एटीएम कार्ड (ATM Card) का इस्तेमाल नहीं करते होंगे . प्रधानमंत्री जन-धन योजना और रूपे कार्ड (RuPay Card) की बदौलत अब एटीएम हर किसी के रोजमर्रा के जीवन का हिस्सा बन गया है. इसने न सिर्फ कैश पर निर्भरता कम की है, बल्कि पैसों को सुरक्षित भी बनाया है और लेन-देन करना और भी आसान हो गया है.

इन्हें भी पढ़ें –

अब कुछ खरीदना हो तो उसके लिए मोटा कैश लेकर जाने की आवश्कता नहीं होती. सारा काम एक छोटा सा एटीएम कार्ड कर देता है. एटीएम कार्ड के साथ इनके अलावा भी कुछ ऐसे लाभ (ATM Card Benefits) मिलते हैं, जिनकी जानकारी लोगों को नहीं होती है. जानकारी के कमी में लोग फ्री में मिल रही जरूरी सुविधाओं का इस्तेमाल करने से पीछे रह जाते हैं.

बैंक भी ग्राहकों को नहीं देते हैं जानकारी

एटीएम कार्ड के साथ मिलने वाली सेवाओं में सबसे अहम है फ्री इंश्योरेंस (ATM Card Insurance). जी हां…बैंक जैसे ही किसी ग्राहक को एटीएम कार्ड इश्यू करता है, उसके साथ ही ग्राहक को दुर्घटना (Accidental Insurance) या अचानक मौत का इंश्योरेंस (Life Insurance) मिलता है.

हालांकि इसकी जानकारी लोगों को नहीं होने के कारण बहुत कम लोग ही यह इंश्योरेंस क्लेम कर पाते हैं. इसका एक बड़ा कारण लोगों के बीच वित्तीय साक्षरता की कमी है. गांव के लोगों की बात तो छोड़िए, पढ़े-लिखे शहरी लोग भी एटीएम के साथ जुड़ी नियम-शर्तों पर ध्यान नहीं देते हैं. बैंक भी अपने ग्राहकों को एटीएम के साथ मिलने वाले इंश्योरेंस की जानकारी नहीं देते हैं.

कार्ड के हिसाब से इतना मिलता है कवरेज

अगर कोई व्यक्ति किसी राष्ट्रीयकृत और गैर राष्ट्रीयकृत बैंक के एटीएम का कम-से-कम 45 दिनों से उपयोग कर रहा है, तो वह एटीएम कार्ड के साथ मिलने वाले इंश्योरेंस का दावा करने का हिस्सेदारी हो जाते है. बैंक ग्राहकों को अनेक प्रकार के एटीएम कार्ड इश्यू करते हैं. एटीएम कार्ड की कैटेगरी के हिसाब से उसके साथ मिलने वाले इंश्योरेंस की राशि तय की होती है.

ग्राहकों को क्लासिक कार्ड (Classic Card) पर 01 लाख रुपये, प्लेटिनम कार्ड (Platinum Card) पर 02 लाख रुपये, सामान्य मास्टर कार्ड (Master Card) पर 50 हजार रुपये, प्लेटिनम मास्टर कार्ड (Platinum Master Card) पर 05 लाख रुपये और वीजा कार्ड (Visa Card) पर 1.5-02 लाख रुपये तक का इंश्योरेंस कवरेज (Insurance Coverage) मिल जाता है. प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत खुले खातों पर मिलने वाले रूपे कार्ड (RuPay Card Insurance) के साथ ग्राहकों को 01 से 02 लाख रुपये तक का बीमा भी मिलता है.

इस तरह क्लेम करें एटीएम इंश्योरेंस

अगर एटीएम कार्ड धारक (ATM Card Holder) का किसी दुर्घटना के शिकार हो जाते है और उसमें वह एक हाथ या एक पैर से दिव्यांग हो जाते है, तो उसे 50 हजार रुपये का कवरेज मिलता है. इसी तरह दोनों हाथ या दोनों पैर का नुकसान हो जाने पर 01 लाख रुपये का बीमा लाभ मिलता है. मौत होने की स्थिति में कार्ड के हिसाब से 01 लाख रुपये से 05 लाख रुपये तक का कवरेज मिलता है.

एटीएम कार्ड के साथ मिलने वाले इंश्योरेंस को क्लेम करने के लिए कार्डहोल्डर के नॉमिनी (Nominee) को संबंधित बैंक में जाकर आवेदन देना पड़ता है. बैंक में एफआईआर की कॉपी, अस्पताल में इलाज का प्रमाण पत्र आदि जैसे कागजात जमा करने पर बीमा का क्लेम मिलता है. वहीं मृत्यु की स्थिति में कार्डहोल्डर के नॉमिनी को मृत्यु प्रमाण पत्र, एफआईआर की कॉपी, आश्रित का प्रमाण पत्र, मृतक के प्रमाण पत्र की मूल कॉपी आदि जमा करने पड़ते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here