कार लोन कैसे ले सकते हैं आप?

0
16

कार लोन कैसे ले सकते हैं: पहले कार खरीदना किसी के लिए भी बहुत बड़ी बात होती थी, क्योंकि इसके लिए एकमुश्त बड़ी रकम खर्चा करना पड़ता था,

घर के साथ एक महगें कार लेना हर किसी का सपना होता है. कार से न सिर्फ आपका लाइफ आरामदेह बनता है, बल्कि बहुत सी मुश्किलें कम हो जाती हैं. पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जूझते हुए दफ्तर पहुंचना या वीकेंड पर घूमने के लिए बाहर जाना हो , सब कुछ बहुत आसान हो जाता है.

कार लोन कैसे ले सकते हैं आप?

पहले कार खरीदना किसी के लिए भी बहुत बड़ी बात होती थी, क्योंकि इसके लिए एकमुश्त रकम खर्चा करना पड़ता था, लेकिन अब लोन (Car Loan) आसानी से उपलब्ध होने की वजह से यह बेहद आसान हो गया है.

बैंक और नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी कार लोन आसान मासिक किस्त पर दे देते हैं, जिससे अब कार खरीदना बहुत आसान हो गया है. इससे आपका बजट भी नहीं बिगड़ता और आपको सुविधा भी मिल जाती है.

Read Also-

कार लोन:-

कर्ज देने वाली कंपनियां नई और पुरानी दोनों कार पर लोन देता हैं. हालांकि इन दोनों पर ब्याज दरें अलग -अलग होती हैं. नई कार के लिए ब्याज दर 9 .25 -13.75 % के बीच हैं, जबकि पुरानी कारों पर ब्याज दर 12.50 और 17.50 % के बीच है.

कौन -कौन ले सकता है कार लोन (Car Loan) ?

लोन (Car Loan) के लिए अप्लाई करने से पहले कुछ शर्त हैं, जिनका आपको ध्यान रखना जरूरी है. इसमें उम्र-सीमा , कम से कम वेतन, नौकरी का प्रकार और रेजिडेंस के बारे में जानकारी शामिल हैं.

कार लोन (Car Loan) के लिए जरूरी दस्तावेज:-

  1. पहचान का प्रमाण (पैन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि )
  2. वोटर ID कार्ड, पासपोर्ट जैसे पते का प्रमाण। 
  3. आपका उम्र प्रूफ। 
  4. फोटोग्राफी। 
  5. कार का कागजात। 
  6. 3 महीने की सैलरी स्लिप, 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट, आयकर रिटर्न जैसे आमदनी के सबूत। 
  7. कुछ कंपनियां कार के इंश्योरेंस की कॉपी और ड्राइविंग लाइसेंस के बिना लोन फाइनल नहीं करते है। 

हाइपोथेकेशन:-

कार लोन कैसे ले सकते हैं जब आप लोन (Car Loan) लेकर कार खरीदते हैं तो यह लोन देने वाली कंपनी के पास गिरवी रहती है. इससे उनके पास यह अधिकार होता है कि वे आपके कर्ज नहीं चुका पाने की स्थिति में आपकी संपत्ति जब्त कर लें. अगर आप टाइम पर मासिक किस्त नहीं दे पाए तो वे कार को उठा कर ले जा सकती हैं.

हाइपोथेकेशन लेटर कार के रजिस्ट्रेशन प्रोसेस का भी हिस्सा होता है. एक बार जब आप लोन (Car Loan) चुका देंगे तो आप रजिस्ट्रेशन पेपर से लोन देने वाली कंपनी का हाइपोथेकेशन हटा सकते हैं.

हाइपोथेकेशन हटाने के लिए आपको संबंधित रजिस्ट्रेशन ट्रांसपोर्ट ऑफिस में नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट, कार के इंश्योरेंस के पेपर्स और एड्रेस प्रूफ के साथ जाना होगा .

यहां पर यह ध्यान रखना जरूरी है कि कर्ज (Car Loan) देने वाली कंपनी से एनओसी लेना जरूरी है. इसके बाद इसे इंश्योरेंस कंपनी को लेकर नए मालिक के नाम से इंश्योरेंस पेपर जारी कर दे.

कार लोन (Car Loan) की रकम:-

 लोन (Car Loan) की राशि आपकी उम्र और आमदनी पर निर्भर करती है. कार के लिए आपको कितना लोन मिलता है, यह लोन देने वाली कंपनी पर निर्भर होता है. इस समय आम तौर पर आपकी सालाना कमाई का 4 से 6 गुना तक कार लोन (Car Loan) मिल जाता है.

कार की कीमत का 80-90 % तक फाइनेंस हो जाता है. कुछ बैंक हालांकि 100 % तक भी फाइनेंस कर देते हैं. यह एक्स शोरूम प्राइस या ऑन रोड प्राइस हो सकती है.

एक्स शोरूम प्राइस किसी डीलर को कार खरीदने के बदले चुकाई जाने वाली पैसा है. जब आप रजिस्ट्रेशन चार्ज, इंश्योरेंस, रोड टैक्स आदि चुकाने के बाद कार सड़क पर चलाने के लिए लाते हैं तो यह ऑन रोड प्राइस होती है.

जब किसी सेकेंड हैंड कार के लिए लोन (Car Loan) लेने जाते हैं तो दोबारा रजिस्ट्रेशन में आने वाले खर्च कवर नहीं होते है.

कार लोन (Car Loan) पर ब्याज दरें:-

कार लोन (Car Loan) की रकम पर कर्ज देने वाली कंपनियां मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स (एमसीएलआर) के अलावे कुछ एक्स्ट्रा रकम भी चार्ज करती हैं. आमतौर पर यह रेट फिक्स्ड होते है. इससे लोन चुकाना बहुत आसान होता है.

अगर आपको लगता है कि भविष्य में ब्याज दरें कम हो सकती हैं तो आप फ्लोटिंग रेट पर ब्याज ले सकते हैं. इस समय ब्याज दरें 10.30-15.25 % के बीच हैं.

कर्ज देने वाली कुछ कंपनियां हालांकि महिलाओं को ब्याज दर में कुछ छूट भी देती हैं.

नई कार लेने की जगह सेकंड हैंड कार लोन (Car Loan) पर लेना महंगा सौदा है. ज्यादातर बैंक इस पर ज्यादा ब्याज चार्ज करते हैं.

कार लोन (Car Loan) में कौन-कौन से खर्च होता हैं?

लोन देने या समय से पहले लोन चुकाने में बैंक बहुत से चार्ज लगाता हैं.

  1. जब आप आवेदन करते हैं तो प्रोसेसिंग फीस लिया जाता है.
  2. यह लोन अमाउंट का 0.4-1 % हो सकता है.
  3. टाइम से पहले लोन चुकाने पर बैंक फीस वसूलते हैं.
  4. कुछ बैंक इस पर 5 से 6 % तक चार्ज लेते हैं. कुछ बैंक हालांकि इसके लिए चार्ज नहीं लेते.

कुछ बैंक कार लोन (Car Loan) चुकाने के लिए पार्ट पेमेंट की सुविधा देते हैं. इसका मतलब ये है कि जब भी आपके पास पैसे हों आप लोन का एक हिस्सा चुका सकते हैं. कुछ बैंक पर पेमेंट पर भी चार्ज वसूलते है. लोन (Car Loan) लेने से 6 महीने के अंदर आप लोन का प्रीपेमेंट नहीं कर सकते.

पेमेंट:-

आम तौर पर कार लोन (Car Loan)1 से 7 साल के लिए किया जाता है. आप अपनी सुविधा के हिसाब से इसे तय समय से पहले चुका सकते हैं.

ध्यान रखें:-

  1. अधिकतर बैंक मीडियम कार, एसयूवी और एमटीवी फाइनेंस कर देते हैं. हालांकि लोन के लिए आवेदन करने से पहले आपको यह चेक करना चाहिए कि बैंक किस कार्य के लिए कितना लोन ऑफर कर रहे हैं.
  2. कार अगर किसी व्यक्ति के नाम से खरीदी गयी है तो उसके लिए आयकर में किसी डेप्रिसिएशन पर छूट का दावा नहीं किया जा सकता है . कार लोन पर कोई टैक्स बेनिफिट नहीं है.
  3. लोन लेते समय ही आपको कार लोन (Car Loan) पर चुकाई जाने वाली ब्याज की गणना कर लेनी चाहिए.

निष्कर्ष:-

कार लोन (Car Loan) के लिए आवेदन करना बहुत आसान है, क्योंकि इसमें दस्तावेजी जरूरतें कम हैं. यहां आपको अलग से कुछ गिरवी रखने की भी कोई जरूरत नहीं है. कार के साथ ही लोन सुरक्षित होते है.कार खरीदते समय हालांकि आप अपने बजट का ध्यान रखें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here