क्रेडिट कार्ड क्या होता है? भारत में टॉप क्रेडिट कार्ड की लिस्ट, क्रेडिट कार्ड लेने की शर्तें।

0
41

क्रेडिट कार्ड क्या होता है?(Credit Card kya hota hai) में आप विभिन्न क्रेडिट कार्डों की तुलना कर सकते हैं और अपने लिए उपयुक्त क्रेडिट कार्ड चुन कर उसके लिए अप्लाई भी कर सकते हैं। आपकी योग्यता के आधार पर एक्सिस बैंक, ICICI और SBI आदि जैसे टॉप बैंकों से प्री-अप्रूव्ड ऑफ़र्स भी दिए जाते हैं।

क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

बहुत से क्रेडिट कार्ड में विभिन्न कैटेगरी जैसे ट्रैवल, शॉपिंग और फ्यूल आदि में रिवॉर्ड पॉइंट, कैशबैक और छूट के रूप में फायदा मिलते हैं। लेकिन आपके लिए सबसे अच्छा क्रेडिट कार्ड वही है जिसे आपकी लाइफस्टाइल और खर्चो की आदतों के आधार पर चुना जाता है। भारत में मिलने वाले क्रेडिट कार्डों के बारे में अधिक जानने के लिए ये लेख पढ़ें।

भारत में टॉप 10 क्रेडिट कार्ड

क्रेडिट कार्ड वार्षिक फीस इन खर्चों के लिए सर्वश्रेष्ठ
एक्सिस बैंक Ace क्रेडिट कार्ड ₹ 499   कैशबैक
SBI कार्ड इलीट ₹ 4,999   शॉपिंग, ट्रैवल और फिल्में
HDFC रेगलिया क्रेडिट कार्ड ₹ 2,500 शॉपिंग और ट्रैवल
फ्लिपकार्ट एक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड ₹ 500   ऑनलाइन शॉपिंग
अमेज़ॅन पे ICICI बैंक क्रेडिट कार्ड शून्य ऑनलाइन शॉपिंग
सिटी प्रीमियर माइल्स क्रेडिट कार्ड   ₹ 3,000 ट्रैवल
HDFC मिलेनिया क्रेडिट कार्ड ₹ 1,000 कैशबैक
स्टैंडर्ड चार्टर्ड डिजी- स्मार्ट ₹ 49 हर महीने ट्रैवल और ऑनलाइन शॉपिंग
HDFC बैंक डायनर्स क्लब प्रिविलेज़ ₹ 2,500 ट्रैवल और लाइफस्टाइल
HSBC कैशबैक क्रेडिट कार्ड ₹ 750 ऑनलाइन खरीदारी पर कैश बैक

 

भारत में क्रेडिट कार्ड ऑफर करने वाले टॉप बैंक

SBI कार्ड HDFC बैंक अमेरिकन एक्सप्रेस
ICICI बैंक ऐक्सिस बैंक RBL बैंक
स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक सिटी बैंक इंडसइंड बैंक
HSBC बैंक कोटक महिंद्रा बैंक   यस बैंक

आपके पास क्रेडिट कार्ड क्यों होनी चाहिए?

आपके पास क्रेडिट कार्ड इसलिए होनी चाहिए क्योंकि:-

  • एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाने में हेल्प करता है। 
  • 45 दिनों तक का क्रेडिट-फ्री पीरियड भी मिलेगा। 
  • ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीका से आसान ट्रांजेक्शन। 
  • आकर्षक रिवॉर्ड, कैशबैक, छूट, ऑफ़र,इत्यादि के साथ आता है।
  • इमरजेंसी की स्थिति में काम आता हैं। 
  • आप इसकी सहयोग से बड़ी खरीददारी कर सकते हैं और बाद में EMI के जरिए भुगतान कर सकते हैं। 
  • सभी ट्रांजेक्शन सुरक्षित होते हैं क्योंकि उन्हें OTP और पिन वैरिफिकेशन की जरूरत होती है। 

क्रेडिट कार्ड के फायदें 

जिन लोगों के पास क्रेडिट कार्ड (Credit Card) है, वे निम्नलिखित फायदों का आनंद ले सकते हैं:-

  • वेलकम ऑफर:- अधिकांश बैंक/ क्रेडिट संस्थान कार्ड धारक को विभिन्न प्रकार के वेलकम बेनिफिट प्रदान करता हैं। ये गिफ्ट वाउचर, छूट या बोनस रिवॉर्ड पॉइंट के रूप में मिल सकता हैं।
  • रिवॉर्ड पॉइंट और कैशबैक:- हर बार जब आप अपने क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करते हैं, तो आपको अपने अकाउंट में कुछ रिवॉर्ड पॉइंट या कैशबैक मिलता हैं। रिवॉर्ड पॉइंट का इस्तेमाल मुफ्त उपहार पाने और किसी अन्य वस्तु खरीदते टाइम उसके दाम घटाने के लिए किया जा सकता है जबकि कैशबैक सीधे आपके कार्ड अकाउंट में जाता है। यदि आपके पास ट्रैवल क्रेडिट कार्ड है, तो आप रिवॉर्ड पॉइंट्स के बजाय एयर माइल्स कमा सकते हैं जिसका प्रयोग फ्लाइट की टिकट बुकिंग के लिए किया जा सकता है।
  • फ्यूल सरचार्ज छूट:- आजकल करीब सभी तरह के क्रेडिट कार्डों (Credit Card) पर इस छूट का फायदा उठाया जा सकता है। जब भी आप अपने वाहन में फ्यूल भरवाते हैं, तो आपको छूट मिलती है बशर्ते आप एक निश्चित राशि खर्चा करें।
  • एयरपोर्ट लाउंज एक्सेस:- कुछ क्रेडिट कार्ड (Credit Card) डोमेस्टिक एयरपोर्ट के साथ-साथ इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर वर्ष में एक या ज्यादा बार लाउंज में ठहरने का ऑफर देते हैं। ट्रेवल-सेंट्रिक क्रेडिट कार्ड और प्रीमियम क्रेडिट कार्ड विशेष रूप से ये ऑफर देती हैं।
  • बीमा:- क्रेडिट कार्ड (Credit Card) बीमा और दुर्घटना के मामले में एक निश्चित कवर राशि भी देती हैं। ये हवाई दुर्घटना कवरेज, कार्ड खोने पर मिलने वाला कवर या विदेशी अस्पताल में भर्ती होने पर मिलने वाला कवर भी हो सकती है।
  • कैश एडवांस:- आप अपने क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का उपयोग कर सीधे एटीएम से नकद राशि निकाल पाते हैं। इमरजेंसी में जब आपको तुरंत नकद राशि की ज़रूरत होती है तब ये बेहद फायदेमंद साबित होता है।
  • एड–ऑन कार्ड:-कई क्रेडिट कार्ड पर आपको एक एड-ऑन कार्ड (जिसे एक सप्लीमेंट्री कार्ड के रूप में जाना जाता है) लेने की सुविधा मिलता है जिसे आप अपने पति या पत्नी, भाई बहन, बच्चों और माता-पिता सहित अपने परिवार के सदस्यों के लिए ले सकते हैं। एड- ऑन क्रेडिट कार्ड पर आमतौर पर वही फायदा मिलते हैं जो प्राइमरी कार्ड लेने पर मिलते हैं।
  • EMI कंवर्ट:– EMI कंवर्जन क्रेडिट कार्ड पर मिलने वाला सबसे सामान्य फायदा है। आप अपनी बड़ी खरीद को EMI में बदल सकते हैं और कुछ महीनों की अवधि में भुगतान कर सकता हैं।

क्रेडिट कार्ड के लिए योग्यता शर्तें:-

क्रेडिट कार्ड के लिए योग्यता शर्तें (Eligibility for Credit Card) कई कारकों पर निर्भर करता हैं। जैसे बैंक अपनी अलग-अलग योग्यता शर्तें, निर्धारित करते हैं, वहीं एक ही संस्थान अगर अलग- अलग क्रेडिट कार्ड जारी करता है तो उनके लिए भी अलग- अलग शर्तें निर्धारित होते हैं। हालांकि आयु , निवास का शहर, आय का स्रोत, क्रेडिट स्कोर जैसी बुनियादी शर्तें सभी क्रेडिट कार्ड आवेदकों के लिए समान रह सकता हैं। लेकिन सबसे बड़ा अंतर आवेदक की आय को लेकर हो सकता है कि क्रेडिट कार्ड के लिए न्यूनतम कितनी आय होना चाहिए। कार्ड के प्रकार, इसके लाभों और वार्षिक फीस के आधार पर, बैंकों ने प्रत्येक कार्ड के लिए आय की योग्यता शर्त निर्धारित की हैं।

क्रेडिट कार्ड आवेदन के लिए ज़रूरी दस्तावेज:-

क्रेडिट कार्ड के लिए ज़रूरी दस्तावेज (Documents for Credit Card) बैंक के हिसाब से अलग-अलग होता हैं, आवेदन करने के लिए आवश्यक कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज़ नीचे दिये गए हैं:-

  • पहचान पत्र और हस्ताक्षर प्रमाण:- पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, कर्मचारी पहचान पत्र और सरकारी कर्मचारियों के मामले में कर्मचारी का पहचान पत्र।
  • निवास प्रमाण:- बैंक स्टेटमेंट, रेंट एग्रीमेंट, मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, टेलीफोन / बिजली बिल  / पानी / क्रेडिट कार्ड बिल या प्रॉपर्टी का टैक्स।
  • उम्र प्रमाण:- मतदाता पहचान पत्र, माध्यमिक विद्यालय प्रमाणपत्र (कक्षा 10), जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, आधार कार्ड, पेंशन पेमेंट ऑर्डर या एलआईसी पॉलिसी का प्राप्ति प्रमाण पत्र।
  • वेतन पाने वाले व्यक्ति के लिए आय प्रमाण पत्र:- हाल ही की 3 महीने की सैलरी स्लिप, 6  महीने के लिए सैलरी बैंक अकाउंट के स्टेटमेंट।
  • स्व–रोजगार करने वाले व्यवसायियों / पेशेवरों के लिए आय का प्रमाण:- हाल ही का इनकम टैक्स रिटर्न और व्यापार लगातार चलने के प्रमाण के साथ अन्य प्रमाणित वित्तीय दस्तावेज।

पैसाबाज़ार से क्रेडिट कार्ड क्यों लेनी चाहिए?

अधिक विकल्प:- पैसाबाज़ार के ज़रिए क्रेडिट कार्ड लेने पर आपको प्रमुख बैंकों और कार्ड जारीकर्ताओं के 50 से ज्यादा क्रेडिट कार्डों में से चुनने का विकल्प मिलता है।

प्री–अप्रूव्ड क्रेडिट कार्ड ऑफर:- योग्यता के आधार पर, ग्राहक आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और इंडसइंड बैंक जैसे हमारे पार्टनर से प्री-अप्रूव्ड क्रेडिट कार्ड ऑफर (Pre-Aprooved Credit Card Offers) का फायदा उठा सकते हैं। प्री-अप्रूव्ड क्रेडिट कार्ड की एप्लीकेशन बहुत जल्दी मंज़ूर मिल जाता है और इसके लिए बहुत कम डॉक्यूमेंट सबमिट करने होते हैं।

मंज़ूरी की संभावना:- पैसाबाज़ार के ‘Chance of Approval’ इनोवेटिव फीचर के साथ, ग्राहक हमारे मार्केट पोर्टल पर जान सकते हैं कि कौन-सा क्रेडिट कार्ड उन्हें मिलने की कितनी संभावना होती है। इस तरह आप उन क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करने से बचेंगें जहाँ आपकी एप्लीकेशन मंज़ूर होने की संभावना कम होती है।

विशेषज्ञों की सहायता:- पैसाबाज़ार की क्रेडिट कार्ड विशेषज्ञों की टीम ग्राहकों को उनकी ज़रूरतों के हिसाब से सबसे उपयुक्त कार्ड चुनने में सहयोग करती है। हमारी टीम कार्ड चुनने, उनकी तुलना और कार्ड के सफलतापूर्वक जारी होने तक की प्रक्रिया में ग्राहकों की सहायता करती है, ताकि आवेदक को हर कदम पर विशेषज्ञों का साथ मिल सके ।

क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कैसे करते हैं ?

आप नीचे दिए गए तीन चरणों का पालन करके आसानी से सही क्रेडिट कार्ड पा सकते हैं।

स्टेप 1- ऑफर की तुलना। 

प्रमुख बैंकों द्वारा दिये जा रहे टॉप क्रेडिट कार्ड खोजें। अपनी लाइफस्टाइल और बजट के अनुकूल क्रेडिट कार्ड पाने के लिए अलग-अलग कार्ड पर ऑफर और फीस की तुलना करिये।

स्टेप 2- योग्यता को चेक करें। 

आप क्रेडिट कार्ड के लिए योग्य हैं या नहीं हैं , ये पता करने के लिए आय और व्यवसाय जैसी अपनी व्यक्तिगत जानकारी भरें।

स्टेप 3- ई-अप्रूवल

आप अपने आवेदन की तत्काल मंज़ूरी के लिए एक बेसिक फॉर्म भरें।

संबंधित प्रश्न  (FAQs)

प्रश्न. क्या सभी क्रेडिट कार्ड में वार्षिक फीस और ज्वाइनिंग फीस देनी पड़ती है?

उत्तर: नहीं, सभी कार्डों पर वार्षिक फीस या ज्वॉइनिंग फीस नहीं देनी होती है। जो पहली बार क्रेडिट कार्ड ले रहा है, उससे आमतौर पर कोई वार्षिक फीस नहीं ली जाती है। हालांकि, आपको ध्यान देने चाहिए कि जिन कार्डों पर वार्षिक फीस लागू होती है, वे अक्सर शून्य वार्षिक फीस वाले कार्ड की तुलना में ज्यादा फायदा प्रदान करते हैं।

प्रश्न. क्या मैं अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके एटीएम (ATM) से कैश निकाल सकता हूं?

उत्तर: इस सुविधा को कैश एडवांस के रूप में जाने जाते है। आप ATM से अपनी कुल क्रेडिट लिमिट का एक हिस्सा निकाल सकते है।लेकिन ऐसे विड्रॉल पर अतिरिक्त फीस लगता है और उस पर ज्यादा ब्याज दर लागू होती है। इसलिए, आपको हमेशा क्रेडिट कार्ड से कैश विड्रॉल करने से बचना चाहिए और यदि आपको कैश की तत्काल ज़रूरत होती है तो पर्सनल लोन ले सकते हैं।

प्रश्न. क्या मेरा क्रेडिट कार्ड लिमिट बाद में बढ़ सकता है?

उत्तर: कार्ड जारी करने वाले संस्थान समय-समय पर क्रेडिट लिमिट को बदलते रहते हैं। यह आमतौर पर आपके पिछले पेमेंट ट्रैक रिकॉर्ड और आपकी क्रेडिट हिस्ट्री को ध्यान में रखकर करते है।

प्रश्न. क्या क्रेडिट कार्ड का बिल भुगतान न करने पर ब्याज लगता है ?

उत्तर: आपके कार्ड से संबंधित बैलेंस पर ब्याज दरें लागू होता है। ग्राहक के लिए जितने भी लोन लेने के साधन मौज़ूद होता हैं, उन सब में क्रेडिट कार्ड की ब्याज दरें सबसे ज्यादा होती हैं। ज्यादातर मामलों में, ब्याज दरें 18 फीसदी से शुरू होती हैं और कार्ड के प्रकार, कार्ड जारीकर्ता की नीतियों जैसे विभिन्न कारकों के आधार पर सालाना 45 फीसदी तक भी जा सकती हैं।

प्रश्न. सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड (Credit Card) क्या होती है?

उत्तर: सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड वो होता है जो किसी संपत्ति जैसे फिक्स्ड डिपॉज़िट के बदले दिये जाते है। यह उन लोगों के लिए एक अच्छी शुरुआत हो सकता है जो रेगुलर (अनसिक्योर्ड) क्रेडिट कार्ड लेने के लिए योग्य नहीं होते हैं।

पैसाबाज़ार स्टेप-अप क्रेडिट कार्ड उन लोगों के लिए सबसे अच्छा सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड विकल्प है जो अपना क्रेडिट स्कोर बनाना या सुधारना चाहते हैं लेकिन अनसिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए योग्य नहीं हैं। कार्ड को SBM Bank (India) प्राइवेट लिमिटेड के सहयोग से लॉन्च किया गया है। ग्राहक 12,000 रु., 24,000 रु. या 60,000 रु. तक की FD के बदले ये क्रेडिट कार्ड ले सकता हैं और कार्ड पर क्रेडिट लिमिट के रूप में अपनी FD राशि का 83 फीडसी प्राप्त कर सकते हैं। इस कार्ड की सुविधाओं का उपयोग करने के साथ- साथ जमा राशि पर 6.5फीसदी की दर से ब्याज भी मिलेगा।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड (Credit Card) पर मिलने वाले रिवॉर्ड और कैशबैक में क्या अंतर होता है?

उत्तर: रिवॉर्ड पॉइंट्स के रूप में मिलते हैं जिन्हें बाद में गिफ्ट वाउचर या क्रेडिट स्टेटमेंट के लिए रिडीम/ उपयोग किया जाता है। जबकि कैशबैक सीधा आपके क्रेडिट कार्ड अकाउंट में हीआता है। ज्यादातर क्रेडिट कार्ड रिवॉर्ड और सिर्फ कुछ ही कार्ड कैशबैक ऑफर करता हैं।

प्रश्न. क्या मैं अपना क्रेडिट कार्ड से की गई खरीदारी को ईएमआई में बदल सकता हूं?

उत्तर:- हां, आप अपने क्रेडिट कार्ड के साथ उपलब्ध ईएमआई विकल्पों के मुताबिक अपनी किसी बड़ी खरीददारी का ईएमआई के रूप में भुगतान कर सकते है। क्रेडिट कार्ड ईएमआई पर ब्याज दर हर बैंक/ लोन संस्थान में अलग- अलग होता  है। इस लिए पहले से ब्याज दर को चेक करना अच्छा होता है।इसको चेक करने के लिए आप क्रेडिट कार्ड ईएमआई कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते है। इसके अलावे , कुछ बैंक/ लोन संस्थान बड़े ब्रांडों और ऑनलाइन स्टोर के सहयोग से अपने ग्राहकों के लिए छूट या बिना ब्याज वाली ईएमआई ऑफर भी करते हैं। आप अपनी नेट बैंकिंग/ क्रेडिट कार्ड ऐप का उपयोग करके अपने क्रेडिट कार्ड पर ईएमआई विकल्पों को चेक कर पाते हैं या अधिक जानकारी के लिए बैंक कस्टमर केयर को कॉल कर सकते हैं।

प्रश्न. नए क्रेडिट कार्ड में अपग्रेड कैसे करते है?

उत्तर: ज्यादातर लोग एक नए क्रेडिट कार्ड में अपग्रेड करते हैं तब करते हैं जब उनके पास क्रेडिट लिमिट बहुत कम होती है या वे अपने मौजूदा क्रेडिट कार्ड के साथ दी जाने वाली सुविधाओं से संतुष्ट नहीं होते हैं। दोनों मामलों में एक नया क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना सबसे अच्छा विकल्प है। आप या तो बैंक में नए क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन भर सकते हैं या अपने मौजूदा क्रेडिट कार्ड पर अपग्रेड करने के विकल्प तलाश कर सकते हैं। आप Paisabazaar.com पर भी क्रेडिट कार्ड्स की तुलना कर सकते हैं और फिर अपनी आवश्यकता के अनुसार सबसे अच्छा विकल्प को चुन सकते हैं।

हालाँकि, आपको नए क्रेडिट कार्ड पर अपग्रेड करने से पहले निम्नलिखित कारकों पर विचार करना चाहिए:-

बढ़ा हुआ क्रेडिट लिमिट:- यह न केवल आपकी क्रेडिट लिमिट बढ़ाएगा, बल्कि आपके क्रेडिट यूटिलाइज़ेशन रेश्यो को कम करने में भी आपका मदद करेगा।

खर्च आधारित लाभ:- अगर आपके पास पहले से ही एक क्रेडिट कार्ड है जिसमें फ्यूल पर ऑफ़र है तो ऐसे ही समान फीचर्स वाला दूसरा क्रेडिट कार्ड लेने का

कोई फायदा नहीं होता है। ऐसे कार्ड लेने पर विचार करें जो आपके खर्च करने की आदतों के आधार पर यात्रा, कैशबैक, डाइनिंग, मूवी आदि जैसे अन्य लाभ प्रदान करते हैं।

क्रेडिट स्कोर:- कई क्रेडिट कार्ड रखने से आपका खर्च अलग- अलग कार्ड्स में बंट जाएगा और इस तरह आपके क्रेडिट यूटिलाइज़ेशन में कमी आएगा । यदि आप अपने सभी क्रेडिट कार्ड के यूटिलाइज़ेशन रेश्यो को 40फीसदी से कम रखते हैं और आपके क्रेडिट स्कोर में भी सुधार होगा।

कार्ड फीस व शुल्क:- नया क्रेडिट कार्ड लेने से उस पर आपको वार्षिक शुल्क भी देना होगा । आपके नए कार्ड पर लगने वाले जुर्माने को उसकी वार्षिक फीस के आधार पर संशोधित किया जाएगा। इस प्रकार, हमेशा नए क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने से पहले अन्य फीस के साथ वार्षिक फीस पर भी विचार करें।

प्रश्न:- ऐड–ऑन क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं?

उत्तर:- ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड पहले से लिए क्रेडिट कार्ड के तहत जारी किए जाते हैं और बकाया भुगतान के लिए सभी ट्रांजेक्शन एक ही अकाउंट में डायरेक्ट किया जाता हैं। यह उन छात्रों के लिए उपयोगी है जो अपने माता- पिता से दूर रह रहे हैं और उन लोगों के लिए भी जिनके पास स्वयं का कार्ड नहीं होता है।

अधिकतर, ऐड-ऑन कार्ड की क्रेडिट लिमिट प्राइमरी कार्ड की तरह होती है, लेकिन कुछ बैंकों के शर्तों के अनुसार, ऐड- ऑन कार्ड के लिए क्रेडिट लिमिट प्राइमरी कार्ड की तुलना में कम होती है। यदि आपको एक से ज्यादा ऐड-ऑन कार्ड जारी किए गए हैं, तो तय की गई लिमिट प्राइमरी कार्ड की कुल लिमिट से मेल खाने के लिए ऐड-ऑन कार्ड के बीच समान रूप से वितरित की जाती हैं। यह उप-सीमा किसी भी एटीएम विड्रॉल पर भी लागू होगा । ऐड-ऑन कार्ड से संबंधित नियम और शर्तें एक बैंक से दूसरे बैंक में अलग- अलग हो सकता हैं।

सभी बकाया ट्रांजेक्शन की जानकारी एक प्राइमरी खाते पर दर्ज किया जाता है। इस लिए, यदि आप अतिरिक्त कार्ड किसी और को सौंपते हैं, तो आप तारीखों के साथ विदड्रॉअल और ट्रांजेक्शन पर भी नज़र रख पाते हैं। ऐड- ऑन कार्ड की सभी सुविधायें और लाभ प्राइमरी क्रेडिट कार्ड के समान ही होता हैं।

प्रश्न. प्रीमियम क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

उत्तर:- प्रीमियम क्रेडिट कार्ड लाइफस्टाइल, ट्रैवल, एंटरटेनमेंट, डाइनिंग आदि पर अतिरिक्त लाभ प्रदान करता हैं और वे पर्याप्त वार्षिक शुल्क भी लेते हैं। अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के लाउंज तक पहुंच, कंसीयज़ सेवा, हवाई दुर्घटना बीमा जैसी कुछ सुविधायें प्रीमियम कार्ड पर मिलता हैं।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड (Credit Card) बैलेंस ट्रान्सफर क्या होता है?

उत्तर:- कुछ क्रेडिट कार्ड किसी दूसरे क्रेडिट कार्ड से बकाया राशि ट्रान्सफर करने और फिर उसे ईएमआई में बदलने की सुविधा देता हैं।बैंक भी अपने क्रेडिट कार्ड ग्राहकों को ये सुविधा देती हैं।

प्रश्न. क्या भारत में को–ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड (Credit Card) उपलब्ध हैं या नहीं ?

उत्तर: हाँ, भारत में बहुत से बैंकों ने को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड देने के लिए ब्रांडों से एग्रीमेंट किया है। भारत में कुछ को- ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड हैं- एयर इंडिया एसबीआई सिग्नेचर कार्ड, एक्सिस बैंक विस्तारा और आईसीआईसीआई का अमेज़न पे क्रेडिट कार्ड है ।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड (Credit Card) पर मिलने वाले माइलस्टोन बेनिफिट कौन– कौन से होते हैं?

उत्तर:- बैंक क्रेडिट कार्ड ग्राहकों को एक तय अवधि में एक निश्चित रकम खर्च करने पर रिवॉर्ड बोनस या शॉपिंग वाउचर देती हैं। उसे माइलस्टोन बेनिफिट कहा जाता है।

प्रश्न. मेरे नए क्रेडिट कार्ड (Credit Card) पर मेरी क्रेडिट कार्ड रिपोर्ट की जानकारी क्यों नहीं दिख रहा है?

उत्तर: आमतौर पर, किसी भी नए लोन या केडिट कार्ड की जानकारी आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में 3 महीने के अंदर दर्ज़ हो जाता है। अगर उसके बाद भी वो जानकारी नहीं दिख रही है तो आपको अपने बैंक या क्रेडिट ब्यूरो को तुरंत संपर्क करना चाहिए।

प्रश्न. कार्ड खोने पर मिलने वाला लायबिलिटी कवर क्या होती है?

उत्तर: ज़्यादातर क्रेडिट कार्ड (Credit Card) पर ज़ीरो लायबिलिटी फायदा मिलता है जिसके तहत कार्ड के खोने और उसकी सूचना बैंक को देने के बीच अगर किसी भी तरह की खरीददारी कार्ड से होती है उसके लिए कार्डधारक ज़िम्मेदार नहीं होगा।

प्रश्न. क्या क्रेडिट कार्ड (Credit Card) से कैश निकालने की कोई लिमिट तय होती है?

उत्तर: हाँ, क्रेडिट कार्ड से कैश निकालने की लिमिट आपको क्रेडिट कार्ड देते वक्त  ही निश्चित कर दी जाती है।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट को कैसे पढ़ें ?

उत्तर: क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट में स्टेटमेंट तिथि , बिल जमा करने की तारीख, कुल बकाया रकम, और न्यूनतम बकाया रकम जैसी महत्वपूर्ण जानकारी शामिल होता  है। ये सब आमतौर पर स्टेटमेंट के शुरू में ही लिखा होता हैं । उसके बाद स्टेटमेंट के दूसरे हिस्से में लेन-देन की जानकारी होती है।

प्रश्न. मैं अपना क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान कैसे कर सकती ?

उत्तर: क्रेडिट कार्ड बिल भुगतान करने के कई तरीका हैं, जैसे कि नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, बिल डेस्क, NEFT, चेक आदि। इसके अलावे , आप अपनी बैंक की निकटतम ब्रांच में जाकर भी बिल का भुगतान कर सकते हैं। लेकिन कैश के ज़रिए भुगतान में अधिक शुल्क लगता है।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड लिमिट का क्या मतलब होता है?

उत्तर: क्रेडिट लिमिट क्रेडिट कार्ड (Credit Card) द्वारा खर्च का सीमा होती है जो बैंक द्वारा निर्धारित की जाती है। यह वो अधिकतम राशि होती है जिससे अधिक खर्च आप कार्ड द्वारा नहीं कर सकते हैं । बैंक ये क्रेडिट लिमिट आपके क्रेडिट स्कोर, आय और आपके अन्य क्रेडिट कार्ड पर मिली क्रेडिट लिमिट के आधार पर निर्धारित करती है। आप कुछ वर्ष  क्रेडिट कार्ड का प्रयोग करने के बाद इस लिमिट को बढ़ाने का अनुरोध कर सकते हैं लेकिन इसे मंज़ूर करना है या नहीं, ये बैंक पर निर्भर करता हैं ।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर होता है?

उत्तर:  क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में मूल अंतर यह है कि डेबिट कार्ड आपके सेविंग या करंट अकाउंट से लिंक होता है जबकि क्रेडिट कार्ड एक प्रकार का लोन होता  है जो बैंक से लिया जाता है। डेबिट कार्ड द्वारा खर्च करने पर राशि उससे लिंक बैंक अकाउंट से कट जाता है और इस पर कोई ब्याज भी नहीं देना पड़ता है। जबकि क्रेडिट कार्ड का प्रयोग करने पर राशि क्रेडिट लिमिट से ही कटती है।

प्रश्न. क्या क्रेडिट कार्ड में फ्रॉड होने पर सुरक्षा मिलता है?

उत्तर: क्रेडिट कार्ड चिप और पिन द्वारा सुरक्षित होता हैं, इसलिए उनमें फ्रॉड की संभावनाएं बहुत कम होती हैं। जब भी आप ऑनलान पेमेंट करते हैं तो आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आता है जिसे आपको भुगतान करने के लिए वहां दर्ज़ करना पड़ता है। क्रेडिट कार्ड में खोने पर ज़ीरो लायबिलिटी कवर मिलता है जिसका मतलब होता है कि कार्ड खोने पर या चोरी होने पर जैसे ही आप बैंक को खबर देंगे, वैसे ही कार्ड ब्लॉक हो जाएगा।

प्रश्न. क्रेडिट यूटिलाइज़ेशन रेश्यो क्या होती है?

उत्तर: ये आपके क्रेडिट कार्ड के प्रयोग और क्रेडिट लिमिट का रेश्यो होती है। उदाहरण के लिए, अगर आपके कार्ड की क्रेडिट लिमिट1 लाख रुपये है और आपने उसमें से ₹ 30,000 खर्च कर लिए हैं, तो आपका क्रेडिट यूटिलाइज़ेशन रेश्यो 30 फीसदी  होगा। आपको हमेशा अपने सभी क्रेडिट कार्ड का रेश्यो 30 फीसदी  रखने की कोशिश करनी चाहिए।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड से बैंक खाते में पैसे कैसे ट्रांसफर करते है?

उत्तर:- बैंक और एनबीएफसी आपको अपने क्रेडिट कार्ड से अपने बैंक खाते में फंड ट्रांसफर करने की अनुमति नहीं देती हैं। कुछ वैसे मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए आप ऐसा कर सकते हैं। इस पर आपको ट्रांसफर की जाने वाली राशि का कुछ प्रतिशत शुल्क के रूप में देने पड़ते है।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड बैलेंस कैसे चेक करते है ?

उत्तर:- क्रेडिट कार्ड बैलेंस वह राशि है जो आपके कार्ड पर बकाया होता है। आप इसे अपने मासिक क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट पर या अपने क्रेडिट कार्ड नेट बैंकिंग अकाउंट में लॉग इन करके चेक कर सकते है।

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड का लिमिट कैसे बढ़ाएं?

उत्तर:- यदि आप क्रेडिट कार्ड की लिमिट को बढा़ने के बारे में सोच रहे हैं, तो नीचे दिए गए किसी भी विकल्प का पालन कर सकते हैं:-

  • ऑनलाइन रिक्वेस्ट करें (कई क्रेडिट कार्ड जारी करने वाले बैंक/ क्रेडिट संस्थान कार्डधारकों को ऑनलाइन क्रेडिट लिमिट बढ़ाने के लिए रिक्वेस्ट करने की अनुमति दे देते हैं)
  • अपने कार्ड जारी करने वाले बैंक/ क्रेडिट संस्थान को कॉल करें (कस्टमर केयर प्रतिनिधि से पूछें कि आपकी क्रेडिट लिमिट बढ़ सकती है या नहीं बढ़ सकती)
  • कुछ कंपनियां कार्डधारकों को सुविधा देती हैं कि अगर कार्डधारक को कार्ड लिए कुछ टाइम हो गया है तो ऑटोमेटिक तरीके से क्रेडिट कंपनियां कार्डधारकों को सुविधा देती हैं कि अगर कार्डधारक को कार्ड लिए कुछ टाइम हो गया है तो ऑटोमैटिक तरीके से क्रेडिट लिमिट बढ़ जाती है
  • नए कार्ड के लिए आवेदन कर दें। 

प्रश्न. क्रेडिट कार्ड में मिनिमम ड्यू अमाउंट क्या होती है?

उत्तर:- जब आपका क्रेडिट कार्ड बिल आता है तो आप उसका पूरा भुगतान कर सकते हैं या मिनिमम अमाउंट यानि एक न्यूनतम राशि का भुगतान कर सकता हैं या फिर एक बीच की राशि का भी भुगतान कर सकते हैं या ना न्यूनतम हो और ना ही पूरी बिल राशि न्यूनतम बिल राशि आमतौर पर आपके क्रेडिट कार्ड के कुल बिल का 5 फीसदी होती है, लेकिन यह अधिक भी हो सकती है अगर:-

  • आपने अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके ईएमआई पर कुछ खरीदा है। 
  • आपने अपनी क्रेडिट लिमिट से ज्यादा खर्च किया हो। 
  • आपने अपने पिछले महीने की बकाया राशि का भुगतान नहीं किया गया है। 

प्रश्न. मेरा क्रेडिट कार्ड आवेदन क्यों खारिज़ कर दिया गया है?

उत्तर:- आपका क्रेडिट कार्ड आवेदन निम्नलिखित में से किसी भी कारण से नामंज़ूर किया जा सकता है:-

  • कम आय के कारण आप योग्य नहीं हैं। 
  • खराब क्रेडिट हिस्ट्री या कोई क्रेडिट हिस्ट्री का नहीं होना। 
  • ब्लैक लिस्टेड संस्थान में नौकरी करते हैं। 
  • ब्लैक लिस्टेड आवासीय या ऑफिस लोकेशन। 
  • एप्लीकेशन फॉर्म में गलत जानकारी। 
  • क्रेडिट रिपोर्ट में गलत जानकारी। 

इस लेख में हम ने बताया है कि क्रेडिट कार्ड (Credit Card) क्या है, इसका उपयोग कैसे करते हैं, क्रेडिट कार्ड लेने की नियम व शर्तें क्या हैं  और भारत में अलग-अलग खर्चों के लिए टॉप क्रेडिट कार्ड कौन से हैं। क्रेडिट कार्ड संबंधित अन्य जानकारी नीचे दी गई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here