Indian Economy Report: 2029 तक विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा भारत

0
29

Indian Economy Report: 2029 रिपोर्ट में कहा गया कि बढ़ती अनिश्चितताओं के कारण, वैश्विक अर्थव्यवस्था में 6 से 6.5 फीसदी की वृद्धि दर अब सामान्य बात हो गई है।

Indian Economy Report: 2029 भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की एक शोध रिपोर्ट (SBI Research Report) के मुताबिक, 2029 तक भारत के विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की संभावना है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2014 के बाद से भारत द्वारा अपनाए गये रास्ते से पता चलता है कि देश को 2029 में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का टैग मिलने की संभावना है। 2014 में भारत 10 वें स्थान पर थे। भारत विश्व की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के लिए यूनाइटेड किंगडम से आगे निकल चुका है।

Read Also-

Indian Economy Report: 2029

रिपोर्ट में कहा गया है कि बढ़ती अनिश्चितताओं के कारण, वैश्विक अर्थव्यवस्था में 6 से 6.5 फीसदी की वृद्धि दर अब सामान्य बात हो गई है। इंडिया को 2027 में जर्मनी से आगे निकल जाना चाहिए। सबसे ज्यादा संभावना है कि विकास की मौजूदा दर पर 2029 तक जापान भी पीछे रह जाएगा। रिसर्च पेपर में ये भी कहा गया है, कि विश्व जीडीपी में इंडिया की हिस्सेदारी अब 3.5 फीसदी है, जो 2014 में 2.6 फीसदी थी। 2027 में वैश्विक जीडीपी में इंडिया द्वारा जर्मनी की वर्तमान हिस्सेदारी के चार प्रतिशत को पार करने की संभावना है।

रिपोर्ट मे और क्या?

SBI के मुख्य अर्थशास्त्री सौम्य कांति घोष (SBI Chief Economist Soumya Kanti Ghosh) द्वारा लिखी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि, ‘भारत को चीन में निवेश मंदी का फायदा मिलने की संभावना है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सशक्तिकरण के व्यापक आधार पर विकास से इंडिया की प्रति व्यक्ति आय भी बढ़ेगी और यह बेहतर कल के लिए बल गुणक के रूप में कार्य कर सकता है। वैश्विक भू-राजनीति में सही नीतिगत दृष्टिकोण और जियो पॉलिटिक्स के साथ मौजूदा अनुमानों में ऊपर की ओर संशोधन भी हो सकता है।’

SBI अर्थशास्त्री ने GDP संख्या का दिया हवाले

SBI की मुख्य अर्थशास्त्री ने हाल ही में पहली तिमाही के लिए जीडीपी संख्या का हवाला देते हुए, वित्त वर्ष 2013 के लिए पूरे साल के विकास के अनुमान को 7.5 फीसदी से घटाकर 6.8 फीसदी तक संशोधित किया था। पहली तिमाही में भारत की विकास दर संख्या ने 13.5 फीसदी की आम वृद्धि दिखाई, जो कि विनिर्माण क्षेत्र के खराब प्रदर्शन से नीचे चली गई है। Ncert Notes for Students

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here