Independence Day 2022: हाउस वाइफ को क्‍यों जरुरी है इंडिपेंडेंट टर्म प्‍लान? एक्‍सपर्ट से जानिए डीटेल 

Image Source :- Social Media

Independence Day 2022 Special: हाउस वाइफ के लिए स्टैंड अलोन टर्म Plan आने के साथ काफी बदलाव आ गया है. 

Image Source :- Social Media

Image Source :- Social Media

इंश्‍योरेंस की बढ़ी हुई पहुंच के साथ, हाउस वाइफ अपने आश्रितों के लिए अपने लाइफ पार्टनर  पर निर्भर हुए बिना अपना सेफ्टी नेट उपलब्‍ध करा सकती है. 

Independence Day 2022 Special: हम सभी के साथ लाइफ की अनिश्चितताएं जुड़ी होती हैं.

Image Source :- Social Media

बावजूद इसके सभी के पास अपने भविष्य(future ) को आर्थिक रूप से सुरक्षित करने के एक समान साधन नहीं थे. 

Image Source :- Social Media

जहां तक बात हम हाउस वाइफ की करें, तो लॉन्ग टाइम से उनके कंट्रीब्‍यूशन को बहुत कम करके आंका गया है. 

Image Source :- Social Media

बदलते टाइम के साथ इसमें भी बदलाव आ रहा है. लेकिन अभी बहुत कुछ आगे बदलाव जरूरी है. 

Image Source :- Social Media

Image Source :- Social Media

हाउस वाइफ को फ्यूचर को सुरक्षित करने और फाइनेंशियल सिक्‍युरिटी सुनिश्चित करने के लिए उनके पास इंडिपेंडेंट टर्म इंश्‍योरेंस पालिसी प्लान का होना जरूरी है.

फाइनेंशियल Tools की जानकारी होने के बाद भी, महिलाएं अक्सर अपने फाइनेंशियल प्‍लानिंग की जिम्मेदारी खुद नहीं लेती हैं. 

Image Source :- Social Media

 एक सर्वेक्षण में पाया गया कि करीब 48 प्रतिशत महिलाएं इन्वेस्ट के फैसलों के लिए परिवार में पुरुषों पर निर्भर हैं.

Image Source :- Social Media

टर्म इंश्‍योरेंस एक हाउस वाइफ के लिए उतना ही जरूरी है जितना कि परिवार के किसी भी कमाने वाले सदस्य के लिए.

Image Source :- Social Media

आज इंडिपेंडेंट पॉलिसी 18-50 साल की आयु वर्ग में हाउस वाइफ के लिए उपलब्ध है.

Image Source :- Social Media

Image Source :- Social Media

इसकी दो बुनियादी शर्तें हैं जिन्हें पॉलिसी धारक को पूरा करना होगा- सालाना घरेलू इनकम  कम से कम 5 लाख रु होनी चाहिए,

हाउस वाइस ग्रेजुएट होनी चाहिए. कुछ मामलों में हाउस वाइफ का 10वीं या 12वीं पास होना भी है. 

Image Source :- Social Media

परिवार के वित्तीय बुनियादी ढांचे के एक महत्वपूर्ण हिस्से में उसका बहुत ही बड़ा योगदान है. 

Image Source :- Social Media

यह जरूरी है की टर्म इंश्योरेंस की पहुंच उन तक सही रूप से हो तो भारत में कुल जनसंख्या में महिलाओं की संख्या 49प्रतिशत है,

Image Source :- Social Media

स्टोरी पढ़ने के लिए धन्यवाद 

Financial Freedom: आप वित्तीय आजादी चाहते हैं, तो अपनाएं यह पांच तरीके, क्रेडिट कार्ड का समझदारी से इस्तेमाल करें

Next  स्टोरी 

Click Here