आधार कार्ड क्या है? I आधार कार्ड क्या नहीं है? |आधार कार्ड के अनेक लाभ l आवश्यकता और उपयोग

0
29
What is Aadhar Card? आधार कार्ड क्या है? I आधार कार्ड क्या नहीं है? |आधार कार्ड के अनेक लाभ l आवश्यकता और उपयोग

What is Aadhar Card? आधार कार्ड क्या है? आधार कार्ड भारत सरकार द्वारा भारत के नागरिकों के लिए जारी किया जाने वाला पहचान पत्र है। इसमें 12 अंकों का एक विशिष्ट संख्या छपी होती है जिसे भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (भा.वि.प.प्रा.) जारी करता है। यह संख्या, भारत में कहीं भी, व्यक्ति की पहचान और पते का प्रमाण होगा है । भारतीय डाक द्वारा प्राप्त और (यू.आई.डी.ए.आई. )की वेबसाइट से डाउनलोड किया गया ई-आधार दोनों ही समान रूप से मान्य हैं।

कोई भी व्यक्ति आधार कार्ड के लिए नामांकन करवा सकता है बशर्ते वह भारत का निवासी हो और (यू.आई.डी.ए.आई. )द्वारा निर्धारित सत्यापन प्रक्रिया को पूरा करता हो, चाहे उसकी उम्र और लिंग (जेण्डर) कुछ भी हो। प्रत्येक व्यक्ति केवल एक बार नामांकन करवा सकते है। नामांकन निःशुल्क होता है। आधार कार्ड एक पहचान पत्र मात्र है तथा यह नागरिकता का प्रमाणपत्र नहीं होता है।

Also Read-

आधार कार्ड दुनिया की सबसे बड़ी बॉयोमीट्रिक आईडी प्रणाली है। विश्व बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री पॉल रोमर ने आधार कार्ड को “दुनिया में सबसे परिष्कृत आईडी कार्यक्रम” के रूप में वर्णित किया। निवास का सबूत माना जाता है और नागरिकता का सबूत नहीं होती है, आधार कार्ड स्वयं भारत में निवास के लिए कोई अधिकार नहीं देता है। जून 2017 में गृह मंत्रालय ने स्पष्ट किया था कि आधार कार्ड नेपाल और भूटान यात्रा करने वाले भारतीयों के लिए वैध पहचान दस्तावेज नहीं है। तुलना के बावजूद, भारत की आधार परियोजना संयुक्त राज्य अमेरिका के सोशल सिक्योरिटी नंबर की तरह कुछ नहीं होती है क्योंकि इसमें अधिक उपयोग और कम सुरक्षा है।

What is Aadhar Card? आधार कार्ड क्या है?

अवलोकन (Observation)

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) आधार अधिनियम 2016 के प्रावधानों के बाद इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधिकार क्षेत्र के तहत भारत सरकार द्वारा साल 12 जुलाई 2016 को स्थापित एक वैधानिक प्राधिकारी है।

यूआईडीएआई को भारत के सभी निवासियों को 12 अंकों की अनूठी पहचान (यूआईडी) संख्या (जिसे “आधार कार्ड ” कहा जाता है। ) असाइन करने के लिए अनिवार्य है। यूआईडी योजना के कार्यान्वयन में निवासियों को यूआईडी की पीढ़ी और असाइनमेंट शामिल होते है; साझेदार डेटाबेस के साथ यूआईडी को जोड़ने के लिए तंत्र और प्रक्रियाओं को परिभाषित करना; यूआईडी जीवन चक्र के सभी चरणों के संचालन और प्रबंधन; तंत्र को अद्यतन करने और विभिन्न सेवाओं के वितरण के लिए यूआईडी के प्रयोग और प्रयोज्यता को परिभाषित करने के लिए नीतियों और प्रक्रियाओं को तैयार करना। यह संख्या निवासी की मूल जनसांख्यिकीय और बायोमेट्रिक जानकारी जैसे एक तस्वीर, 10 फिंगरप्रिंट और 2 आईरिस स्कैन से जुड़ी हुई है, जो केंद्रीकृत डेटाबेस में संग्रहीत हैं।

What is Aadhar Card?

यूआईडीएआई की शुरुआत जनवरी 2009 में भारत सरकार द्वारा भारत के राजपत्र में अधिसूचना के माध्यम से योजना आयोग के तहत एक संलग्न कार्यालय के रूप में की गयी थी। अधिसूचना के मुताबिक , यूआईडीएआई को यूआईडी योजना को लागू करने और संचालित करने के लिए यूआईडी योजना को लागू करने के लिए योजनाओं और नीतियों को निर्धारित करने की जिम्मेदारी दी गई थी, और इसके आधार पर अद्यतन और रखरखाव के लिए जिम्मेदार होना था।

यूआईडीएआई डाटा सेंटर औद्योगिक मॉडल टाउनशिप (आईएमटी), मानेसर, में स्थित है जिसका उद्घाटन हरियाणा राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने 7 जनवरी 2013 को किया था। बेंगलुरु और मानेसर में आधार डेटा करीब 7,000 सर्वरों में रखा जाता है।

आधार कार्ड Updates

आप अपना आधार कार्ड को ऑनलाइन और ऑफलाइन अद्यतन (अपडेट) कर सकते है। या खो गए आधार कार्ड पूर्ण परापत कर सकते है। ये डाउनलोड किया गया आधार कार्ड पूर्णता वैध होगा।

केवल वे व्यक्ति जिन्होंने आधार कार्ड के साथ अपना वैध मोबाइल नंबर पंजीकृत किया है, वे इसे ऑनलाइन अद्यतन (अपडेट) कर सकेंगे। चूंकि ऑनलाइन लेन-देन OTP प्रमाणित है, इसलिए आधार के साथ अपना मोबाइल नंबर पंजीकृत करना अनिवार्य हो जाता है।

यदि आप अपडेशन के लिए ऑनलाइन स्वयं सर्विस अद्यतन (अपडेट) पोर्टल (SSUP) का उपयोग कर रहे है, तो आप अपने जनसांख्यिकीय विवरण (नाम, पता, जन्म तिथि (DoB), लिंग, मोबाइल और ईमेल) को अद्यतन (अपडेट) कर सकते हैं। आप सुनिश्चित करें कि इस सेवा का उपयोग करते समय आपका मोबाइल नंबर आधार में पंजीकृत है।

आधार कार्ड के अनेक लाभ

1.आधार संख्या प्रत्येक व्यक्ति की जीवनभर का पहचान है।
2.आधार संख्या से आपको बैंकिंग, मोबाईल फोन कनेक्शन और सरकारी व गैर-सरकारी सेवाओं की सुविधाएं प्राप्त करने में सुविधा पड़ती है ।
3.किफायती तरीका व सरालता से ऑनलाइन विधि से सत्यापन योग्य।
4.सरकारी एवं निजी डाटाबेस में से डुप्लिेकेट एवं नकली पहचान को बड़ी संख्या में ख़त्म करने में अनूठा एव ठोस प्रयास।
5.एक क्रम-रहित (रैण्डम) उत्पन्न संख्या जो किसी भी जाति, पंथ, मजहब एवं भौगोलिक क्षेत्र आदि के वर्गीकरण पर आधारित नहीं होती है।

आधार कार्ड क्या है?

*आधार एक 12 अंकों की प्रत्येक भारतीय की एक विशिष्ट पहचान होती है।
*भारत के प्रत्येक निवासी की पहचान होती है।
*डेमोग्राफिक और बायोमेट्रिक के आधार पर प्रत्येक व्यक्ति की विशिष्ट पहचान सिद्ध करती है।
*यह एक स्वैच्छिक सेवा है जिसका प्रत्येक निवासी फायदा उठा सकता है चाहे वर्तमान में उसके पास कोई भी दस्तावेज हो या नहीं ।
*प्रत्येक व्यक्ति को केवल एक ही विशिष्ट पहचान आधार कार्ड नम्बर दिया जाएगा।
*आधार वैश्विक इन्फ्रास्ट्रक्चर पहचान प्रदान करेगा जो कि राशन कार्ड, पासपोर्ट आदि जैसी पहचान आधारित एप्लीकेशन द्वारा भी उपयोग में लाया जा सकता है।
*यू.आई.डी.ए.आई., किसी भी तरह के पहचान प्रमाणीकरण से संबंधित सवालों का हां/न में उत्तर देगा।

आधार कार्ड क्या नहीं है?

*(बच्चों सहित) मात्र एक अन्य कार्ड है ।
*प्रत्येक परिवार के लिए केवल एक आधार कार्ड काफी होती है।
*जति, धर्म और भाषा के आधार पर सूचना एकत्र नहीं करती है ।
*प्रत्येक भारतीय निवासी के लिए अनिवार्य है जिसके पास पहचान का दस्तावेज हों ।
*एक व्यक्ति मल्टीपल पहचान आधार कार्ड नम्बर प्राप्त कर सकता है।
*आधार कार्ड अन्य पहचान पत्रों का स्थान लेगा।
*यू.आई.डी.ए.आई. की सूचना पब्लिक और प्राइवेट एजेंसियां भी ले सकेंगी।

आवश्यकता और उपयोग

आधार कार्ड अब सभी चीजों के लिए बेहद जरूरी होता जा रहा है। पहचान के लिए हर जगह आधार कार्ड ही मांगा जाता हैं। आधार कार्ड के महत्व को बढाते हुए भारत सरकार ने बड़े फैसले लिए हैं जिसमें आपके पास आधार कार्ड नहीं है तो वहां काम होना मुश्किल होगा। इस कार्ड को कोई और प्रयोग नहीं कर सकता है, जबकि राशन कार्ड समेत कई और दूसरे प्रमाण पत्र के साथ कई तरह कि गड़बड़ियाँ हुई है और होती ही रहती है।

1. पासपोर्ट जारी करने के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया गया है।
2. जनधन खाता खोलने के लिये अनिवार्य है।
3. एलपीजी की सबसीडी पाने के लिये अनिवार्य है।
4. ट्रेन टिकट में छूट पाने के लिए अनिवार्य है।
5. परीक्षाओं में बैठने के लिये (जैसे आईआईटी जेईई के लिये) अनिवार्य है।
6. बच्चों को नर्सरी कक्षा में प्रवेश दिलाने के लिये अनिवार्य है।
7. डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र (लाइफ सर्टिफिकेट) के लिए आधार कार्ड जरूरी है।
8. बिना आधार कार्ड के नहीं मिलेगा प्रविडेंट फंड का लाभ
9. डिजिटल लॉकर के लिए आधार कार्ड जरूरी है
10. सम्पत्ति के रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड जरूरी कर दिया गया है।
11. छात्रों को दी जाने वाली छात्रवृत्ति भी आधार कार्ड के जरिए ही उनके बैंक में जमा करवाई जाती है ।
12. सिम कार्ड खरीदने के लिये अनिवार्य है।
13. आयकर रिटर्न के लिये अनिवार्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here